असली समीक्षा फिल्म ‘तीस मार खाँ’

चिंता दूर हुई, अंततः साल की ऐसी फिल्म आ ही गई जिसे भारत की ओर से ऑस्कर में भेजा जा सके.

मेरा विश्वास करें फिल्म की नेम-कास्ट फिल्म से ज्यादा मजेदार है, अतः पैसे वसूलने हो तो नेम-कास्ट के लिए फिल्म के अंत तक बैठे रहें.

यह फिल्म साबित करने के लिए पर्याप्त है कि तीन नन्हे जुड़वाँ बच्चे अपनी माँ के लिए फिल्म की कहानी लिख सकते है.

इस फिल्म को घटिया कतई नहीं कह सकते, क्योंकि इससे “नुक्कड़-नौटंकी” वाले काफी कुछ सीख सकते है. धन्यवाद फरहा.

साथ ही यह फिल्म आपको झूठा साबित कर सकती है, अगर आप अक्षय खन्ना को बेकार अभिनेता और कैटरिना को साधारण डाँसर मान रहे हैं.

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

16 Responses to “असली समीक्षा फिल्म ‘तीस मार खाँ’”

  1. arvind mishra says:

    थोडा और विस्तार से होना था न -लग रहा है यह फिल्म पर एक सटायरहै !

  2. प्रवीण पाण्डेय says:

    देखते हैं।

  3. आपकी बात को गौर से पढ लिया है अब जोगाड लगाते हैं देखने का.

    रामराम.

  4. अजी क्या बात कर रहे हैं..
    सुना है बड़ी चाटू फिल्म है… 😉

  5. पता नही क्यो अब भारतिया फ़िल्म देखने का मन ही नही करता, कभी कभी समिक्षा देख कर कोई फ़िल्म देख लेते हे, वर्ना दो तीन घंटे खराब होते हे तो दर्द होता हे बकवास देख कर, चलिये आप कहते हे तो इसे भी डाऊलोड कर के देख लेते हे.धन्यवाद

  6. मैं तो पहले से ही जानता था :mrgreen:

  7. सुलभ says:

    पिछले दो तीन दिनों से समीक्षाएं सुन रहा हूँ…
    कम शब्दों में गयी खड़ी खड़ी बात सुहाती है.

  8. हम तो बचे हैं, न देखने वाले! 😐

  9. शीला के बजाय कुछ और नहीं ही देखना/सुनना चाहिये 🙂

  10. समय निकाल कर देखना पड़ेगा |

  11. इससे सटीक समीक्षा मुझे नहीं लगता कि कुछ और हो सकता है….

    पेट दुःख गया हंस हंस कर….

    फिल्म न देखी है न देखने की अभिलाषा है….

    एक चैनल पर फारहा मैडम को प्रश्न “आपकी फिल्म दर्शकों को क्यों देखनी चाहिए ” पर बोलते हुए सुना :-

    > यह फिल्म मनोरंजन से भरपूर कुछ हट के है…

    > इसमें शीला की जवानी है…

    > इतने समय बाद मेरी फिल्म आ रही है,तो दर्शक देखंगे ही…

    हा हा हा हा…
    😆

  12. फिल्म देखी अंतराल तक ठीक ठाक लगी.बाकि तो सर दर्द ही थी.
    नेम कास्ट फरहा खान कि फिल्मों की खासियत है इस का भी देखने लायक है.
    आप को जन्मदिन की हार्दिक बधाई

  13. surya goyal says:

    सबसे पहले तो जन्मदिन की शुभकामनाये स्वीकार करें. इसके पश्चात कहना चाहूँगा की आपकी साईट का तसल्ली से चक्कर काट कर आया हूँ. बहुत ही सुन्दर ओर प्रभावी. बधाई हो मित्र.

  14. rajeev verma says:

    Iss film main ek hee plus point tha “sheila ki jawani” gaana.Wo bhi farah jee ne suru main daal diya.Ab darshak baithe to kyon baithe.Bahut ghatiya film thee.

  15. kriti shah says:

    Bahut hee sundar likha hai aapne.Aapki jitni taarif ki jai wo kam hai.

  16. veena singh says:

    isse kharab film ban hee nahi sakti.Ye farah khan ka waterloo hai.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *