आज के दिन नई सामग्री तैयार की है…

[कहने को तो हिन्दी दिवस है, मगर लगता हिन्दी का कोई शोक समारोह हो रहा है. फिर भी आपका मन “हिन्डी-डे सैलिब्रेट” करने का कर ही रहा है तो ये रहे सुझाव. इन्हे आजमाने में कोई बुराई नहीं है. बस एक वैधानिक चेतावनी है कि आज के दिन हिन्दी अखबार न पढ़ें न ही समाचार चैनल देखें, इससे आपकी हिन्दी बिगड़ सकती है. ]

वैसे यह पोस्ट किसी और बात को लेकर है. नेट पर विभिन्न स्रोतों पर डिजाइन सम्बन्धी सामग्री व जानकारी की तलाश में भटकता रहता हूँ, रोजी-रोटी का सवाल है. मैने पाया कि चीनी (चाइनीज) कलेंडर कई फोर्मेटों में उपलब्ध है. वहीं भारतीय? कम से कम मुझे तो नहीं दिखा…..अगर नहीं है तो उपलब्ध होना ही चाहिए.

शुरूआत करते हुए
भारतीय मासिक कलेंडर वॉलपेपर के रूप में यहाँ से उतारें. न लगाना हो तो न सही, उतार कर देखें तो सही. और सुझाव भी दें. विक्रम सवत-66 का पूरा कलेंडर पीडीएफ में यहाँ से उतारे. चाहे देखें या छापें आपकी मर्जी. जल्द ही शक-संवत का कलेंडर भी उपलब्ध हो जाएगा. पीडीएफ उपरांत वेक्टर, ड्बल्यू.एम.एफ. जैसे फोर्मेटों में भी भारतीय कलेंडर पिनाक पर उपलब्ध होंगे. पिनाक के अंतर्गत भारतीय तिथि प्रदर्शन के सम्बन्ध में मुक्त-स्रोत पर भी काम चल रहा है.

क्या यह अनोखा काम हुआ है?
कतई नहीं. बस एक चीज अनुपलब्ध थी वह उपलब्ध हुई है.

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

16 Responses to “आज के दिन नई सामग्री तैयार की है…”

  1. संजय जी,

    बहुत अच्छा काम किया है आपने! पर विडम्बना यह है कि सिर्फ हिन्दी कैलेण्डर को तो लोग समझने से रहे, अतः सुझाव है कि उसके साथ अंग्रेजी माह और तारीख भी जोड़ दें।

  2. लागिन रहने के बावजूद आपके ब्‍लाग में नाम , मेल और वेबसाइट टिप्‍पणीकर्ता को क्‍यूं भरने पडते हैं .. इसमें व्‍यर्थ समय जाया होता है हमारा .. इस कारण हडबडी में होने पर अधिकांश समय टिप्‍पणी की भी नहीं जाती होगी आपको .. अधिकांश चिट्ठों पर यह पहले से भरा होता है .. इंटरनेट पर विक्रमी संवत 66 का पूरा कैलेण्‍डर डालकर आपने अच्‍छा काम किया है .. .. ब्‍लाग जगत में आज हिन्‍दी के प्रति सबो की जागरूकता को देखकर अच्‍छा लग रहा है .. हिन्‍दी दिवस की बधाई और शुभकामनाएं !!

  3. वाह!

    हिन्दी दिवस नया काम करने का दिन है। यह नयी संकल्प लेने का दिन है।  आपने  वास्तविक अर्थ में  हिन्दी दिवस मनाया। बहुत-बहुत साधुवाद और बधाई भी।

  4. मैंने एक पंचांग रखा तो है लेकिन अंग्रेजी में है. पर्व त्यौहार और तिथि देखने में बड़ा काम आता है. विक्रम संवत वाले पीडीऍफ़ में फोंट्स नहीं दिख रहे.  शायद कनवर्ट करने में गलती हुई हो या फिर मेरे इस कम्प्यूटर में फॉण्ट नहीं हो. शाम को अपने लैपटॉप पर देखता हूँ.

  5. सच में असली हिन्दी दिवस मनाया आपने । विक्रमी संवत का कैलेण्डर पीडीएफ में देख रहा हूँ । संतोष हो रहा है, मुदित भी हूँ । पिनाक के प्रोजेक्ट्स हेतु शुभकामनायें ।

  6. बहुत काम का काम चल रहा है! धन्यवाद।

  7. बहुत बहुत धन्यवाद जी…
    आपने सही कहा……हिंदी दिवस सच्चे मन से मनाना हो तो आज के दिन अखबार और टी वी न देखना hi हितकर होगा…

  8. गरिमा says:

    … हिंदी दिवस पर आपके लेख की  उत्सुकता से प्रतीक्षा थी …..| सभी को “हिंदी दिवस ” की शुभकामनाएँ….!!!!!

  9. गरिमा says:

    …विक्रम संवत वाले कैलेंडर की तो हिंदी ही समझ में नहीं आ रही..|

  10. नितांत मौलिक सुझाव प्रस्तुत किये हैं आपने.
    रही बात हिन्दी की कमाई खा रहे टीवी चैनलों की या अखबारों की ,जो न कहा जाय वही काफी है.

  11. Rakes Singh says:

    संजय जी आपका प्रयास सराहनीय है | दुर्भाग्य ये है की एक्का-दुक्का (संजय, अनुदाद ) लोग ही हिंदी का झंडा उठा रहे है | जो भी हो … बहुत सुन्दर प्रयास है | यदि मैं कहीं सहायक बन सकूँ तो मुझे बताएं |

  12. Rakes Singh says:

    संजय जी download कर वालपेपर के रूप मैं सेट कर लिया है | खुश हूँ की किसी भी समय ये जान कर किसी को भी बता सकता हूँ की आज कौन का भारतीय महीने का दिन चल रहा है | बहुत बहुत धन्यवाद |

  13. Rakes Singh says:

    एक सुझाव है – पुरे साल भर का कैलंडर जिसमे भारतीय और इंग्लिश दोनों हो तो अच्छा होगा , जैसा की भाद्र महीने का मिला है |

  14. आप बहूत ही अच्छा कार्य  पिनाक पर करने जा रहे हम हिन्दी प्रेमियो की और से मगल-भावना
    आपके विचारो के साथ हम भी है जी, आज तो मजा आ गया हिन्दी- हिन्दी – हिन्दी वन डे मैच जैसा माहोल , अच्छा लग रहा है, क्यो कि आई लव हिन्दी,
    आप को  हिदी दिवस पर हार्दीक शुभकामनाऍ।
    आभार

    पहेली – 7 का हल, श्री रतन सिंहजी शेखावतजी का परिचय
    हॉ मै हिदी हू भारत माता की बिन्दी हू
    हिंदी दिवस है मै दकियानूसी वाली बात नहीं करुगा

  15. भाई आपने किया तो बहुत बढ़िया है पर फूल व फ़ांट के साइज आपस में अदला बदली हो गए नहीं लगते ! 🙂

  16. amit says:

    वाह, सही मायने में “हिन्दी डे” मनाया आपने! 😀 वालपेपर वाला कलेन्डर बढ़िया है, इसको इस वर्ष के बाकी महीनों के लिए भी उपलब्ध करा दें तो बहुत चोखा काम हो जाएगा! 🙂

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *