परिन्दो से छीन लेंगे आसमाँ

उत्तरायण यानी 14 जनवरी (अब से 15 जनवरी) के दिन गुजरात में पतंग उड़ाये जाते है. या कहें की कुछ ज्यादा ही उड़ाये जाते है तो गलत नहीं होगा. चारों ओर पतंगे ही पतंगे. दिन भर “काइपो छे” का शोर गुँजता रहेगा. पतंगे कटेगी और काँच चढ़े धागे से पक्षियों के पँख भी. अकेले अहमदाबाद में ही हजारों पक्षी घायल होते है. इन्ही घायल पक्षियों का इलाज करने के लिए कई केन्द्र खोले जाते है. इस बार अहमदाबाद में निम्न जगहो पर घायल परिन्दो के लिए चिकित्सा उपलब्ध होगी:

वन चेतना केन्द्र, वस्त्रापुर – 2630 6342, 93280 27766, 93280 27575

नमो नमः केन्द्र, वासणा व साबरमति –  93748 72726

शांतिदूत, काण्करिया, एस जी रोड़, साबरमति – 98989 19888, 9428 99486

परम अहमदाबाद नरोड़ा, शाहीबाग – 93741 77754

गीताबेन राम्भया ट्र्स्ट पालड़ी –  2214 1197, 2214 9550, 3293 5772

जीवदया चेरीटेबल ट्रस्ट थलतेज, वस्त्रापुर, सेटेलाइट – 99244 18184, 99044 01017

सारस नेचर कंजरवेशन सोसाइटी, जीवराज पार्क – 94264 08225

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

4 Responses to “परिन्दो से छीन लेंगे आसमाँ”

  1. बढिया जानकारी दी है। असल मे पहले हम कम थे। अब इतनी आबादी बढ गयी है कि सब पर भारी पड रहे है।

  2. आप को जानकारी देने के लिए साधुवाद।

  3. यह तो बहुत अच्छी बात है कि परिन्दों पर ध्यान दिया जाता है। बहुत पुण्य है इसमें।

  4. balkishan says:

    वाह. बहुत अच्छी बात है.
    इसी प्रकार और भी बहुत से सुधार किया जा सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *