सपोर्ट पर समर्थन, सहयोग व उसकी अनुकुलता

मामला सॉफ्टवेर वगेरे के अनुवाद का है. यहाँ ‘support’ (सपोर्ट) के लिए ‘समर्थन‘ शब्द का उपयोग होता है. यह सही लगता है अगर आप किसी का सपोर्ट कर रहे तो, यानी पक्ष ले रहे हो तो. मगर जब सोफ्टवेर का अनुवाद करते है तब कई मामलों में अर्थ-भिन्नता रहती है और हम ‘समर्थन’ से ही काम चलाते है, मुझे यह गलत लगता है. मगर जो चल रहा है, वह चलता जा रहा है.

जैसे मान लें कि कुछ इस तरह की बात हो…‘यह सॉफ्टवेर’ विंडोज 8 को ‘सपोर्ट’ करता है. यहाँ समर्थन जैसी बात नहीं है. वास्तव में अनुकुलता की है. यह सॉफ्टवेर विंडोज 8 के अनुकुल है यह कहना ज्यादा सही लगता है मुझे.

वैसे ही यह वाक्य देखें कि ‘सपोर्ट चाहिये? यहाँ क्लिक करें’. इसका अनुवाद लिखते है, ‘समर्थन चाहिए? यहाँ क्लिक करें’. यहाँ देखें तो मामला सहायता या सहयोग का है न कि समर्थन का.

क्या कहते है आप? यहाँ आपसे शुब्द सुझाव की अपेक्षा है.

****

लम्बा समय हुआ, ब्लॉग लिखे. इस बहाने लिखा है 🙂

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

5 Responses to “सपोर्ट पर समर्थन, सहयोग व उसकी अनुकुलता”

  1. रवि says:

    आपका कहना सही है. संदर्भानुसार अनुवाद होने चाहिएं. परंतु अकसर होता यह है कि अनुवादकों के पास अनुवाद हेतु strings अलग से भेजे जाते हैं, संदर्भ रहित. तो ऐसे में उसे वाक्य दर वाक्य संदर्भ रहित अनुवाद ही करना होता है. तब ऐसी गड़बड़ी हो जाती है.

  2. तनिक “सहारा ” का सहारा लेकर देखिये .

  3. शब्दानुवाद न कर गुणानुवाद करें, संस्कृत में धा धातु धारण करने के लिये होती है, उससे शब्द बनायें।

  4. @रविजी, हाल ही में एक सॉफ्टवेर का अनुवाद किया. काम शौकिया था मगर जब सॉफ्टवेर चलाता हूँ तब पढ़ कर अजीब सा लगता है. 🙂

    @अरविन्दजी, सहारा तो कहें उसका ले लें, मगर कहाँ कौन सा वाक्य आएगा अनुवाद के समय पता ही नहीं चलता.

    @प्रवीण पाण्डेयजी, धा को धारण करेंगे 🙂

  5. आपके ब्लॉग को ब्लॉग एग्रीगेटर “ब्लॉग – चिठ्ठा” में शामिल कर लिया गया है। सादर …. आभार।।

    कृपया “ब्लॉग – चिठ्ठा” के फेसबुक पेज को भी लाइक करें :- ब्लॉग – चिठ्ठा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *